ड्राइवर ने उगला राज, चर्चित भू-कारोबारी पर गिर सकती है गाज

0
432

(शशांक त्रिपाठी) झांसी।

लगभग 6 माह पूर्व रहस्यमय ढंग से लापता 44 वर्षीय युवती की तलाश में लगी झांसी पुलिस के हत्थे भू-कारोबारी संजय वर्मा का ड्राइवर चढ़ गया। पुलिस ने जब पूछताछ की तो ड्राइवर टूट गया और उसने युवती और व्यापारी संजय वर्मा के अवैध संबंधों से लेकर उसके गायब होने तक की पूरी कहानी सुनाई तो पुलिस के होश उड़ गए। ड्राइवर ने तो यहां तक कह दिया कि संजय वर्मा ने युवती को ठिकाने लगा दिया है। ड्राइवर के कबूलनामे के बाद व्यापारी संजय वर्मा पर पुलिस का शिकंजा कसा माना जा रहा है।

यह है पूरा मामला

ललितपुर के कस्बा तालबेहट निवासी 44 वर्षीय मीना सोनी झांसी में रहकर समाजसेवा करने लगी। इसी बीच उसके भू कारोबारी संजय वर्मा से सम्बन्ध हो गए। दोनों की अक्सर मुलाकातें होने लगीं और पुलिस की मानें तो संजय के मीना से अवैध संबंध भी हो गए। इसी बीच 22 मार्च 2019 को मीना ने परिवार वालों को फोन कर बताया कि वह संजय के साथ दुबई जा रही है। इसके बाद वह रहस्यमय ढंग से लापता हो गयी। बाद में युवती के परिजनों ने संजय के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज करा दिया था।

यह रही पुलिस की कहानी

पुलिस कप्तान डॉ ओपी सिंह ने पत्रकारों को जानकारी दी कि पुलिस ने संजय के ड्राइवर योगेश गुप्ता को गिरफ्तार किया। उसने पूछताछ में पुलिस को बताया कि 23 मार्च को संजय वर्मा अपनी इंडिवेर कार से मीना को लेकर दिल्ली गया था। गाड़ी योगेश चला रहा था। तीनों दिल्ली के एक होटल में रुके। इसके बाद 25 मार्च को रात को संजय व मीना घूमने चले गए। जब संजय लौटे तो अकेले थे। संजय ने अगले दिन सुबह योगेश को झांसी चलने को कहा। गाड़ी में रखा मीना का दुपट्टा संजय ने कुछ दूर चलने के बाद यह कहते हुए फेंक दिया कि जब मीना ही नहीं रही तो दुपट्टा किस काम का। बाद में संजय ने योगेश को बताया कि उसने अपने साथियों के साथ मिलकर मीना की हत्या कर लाश को यमुना में फेंक दिया है।

पुलिस को चकमा देने की जमकर हुई कोशिश

पुलिस के अनुसार संजय वर्मा ने पूरे मामले को बेहद शातिर तरीके से अंजाम दिया। उसने फेक आइडी से होटल में रूम बुक कराया था। साथ ही लोकेशन छिपाने के लिए अपना फोन भी साथ नहीं ले गया था। इतना ही नहीं मीना का मोबाइल फोन वह खुद चलाता रहा और उसके परिवार वालो से मीना बनकर चैट करता रहा ताकि उन्हें शक न हो। मीना के प्रोफाइल पर उसने दुबई की फोटो भी लगा दी ताकि परिवार वाले यही मानते रहें कि मीना दुबई में ही है।

दागदार रहा है संजय का इतिहास

संजय वर्मा का यह पहला मामला नहीं है। इसके पूर्व उस पर लकारा निवासी चंद्रशेखर गुर्जर की हत्या का आरोप लगा था,जिसमे बाद में दोनों पक्षो में समझौता हो गया था। इसके बाद झांसी निवासी प्रियंका बुधौलिया की हत्या का आरोप लगा था। इसके बाद अब यह मीना सोनी का मामला आया है, जिसमे उसे आरोपी बनाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here