नागफनी में किशोरी ने फांसी लगाकर दी जान

0
28

नागफनी थाना क्षेत्र में बुधवार शाम एक किशोरी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। काम करके मां घर लौटी तक जानकारी हुई। मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़कर शव को बाहर निकाला। मौके से कोई सुसाइड नोट भी बरामद नहीं हुआ। पुलिस आत्महत्या के कारणों की जानकारी में जुटी हुई है।

फांसी लगाकर जान देने वाली किशोरी माधवी पुत्री स्व.उमाशंकर नागफनी के बंगला गांव की रहने वाली थी। वह बीए तक पढ़ी हुई थी। मां विमला देवी कोठियों में चौका बर्तन करती हैं। दो भाई चंद्रप्रकाश, घनश्याम के अलावा बहन वीना हैं। बुधवार सुबह सभी लोग काम करने के लिए चले गए। घर पर माधवी थी। इसी बीच उसने दरवाजा बंद करके फांसी लगा ली। शाम के वक्त मां विमला घर पहुंची तो उन्होंने दरवाजा बंद पाया। खटखटाने के बाद भी दरवाजा नहीं खुला। आसपास के लोगों ने भी दरवाजा खुलवाने की कोशिश की मगर सफल नहीं हुए। ऊपर लगी खिड़की से देखा तो माधवी को फांसी के फंदे पर झूलते हुए पाया। जानकारी पाकर नागफनी पुलिस मौके पर पहुंची। दरवाजा तोड़कर माधवी को फांसी के फंदे से उतारा। विमला शव का पोस्टमार्टम नहीं कराना चाहती थी। शव उठाने का भी विरोध किया। पुलिस ने जबरन शव को पीएम के लिए भिजवाया। इंस्पेक्टर नागफनी ने बताया कि माधवी ने आत्महत्या क्यों कि इसका पता लगाया जा रहा है।

मूंढापांडे में गृहक्लेश में युवक ने जहर खाकर दी जान

मुरादाबाद।

मूंढापांडे थाना क्षेत्र के जैतपुर विसाठ गांव निवासी युवक ने गृहक्लेश के चलते जहर खा लिया। उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। मरने वाले युवक का नाम भानु प्रताप है। मां की मौत हो चुकी है। पिता महात्मा हो गए हैं। घर की जमीन को लेकर क्लेश रहता है। इसी के चलते उसने जहर खाकर जान दे दी।

कांशीराम नगर में वृद्ध ने खाकर दी जान

मुरादाबाद। मझोला थाना क्षेत्र के कांशीराम नगर निवासी विनय कुमार ने घरेलू कारणों के चलते विषाक्त पदार्थ का सेवन कर लिया। हालत बिगड़ने पर उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। बाद में परिवार वाले उन्हें निजी अस्पताल ले गए। उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here