प्रधानमंत्री ने मिर्जापुर में बाणसागर नहर परियोजना राष्ट्र को समर्पित की

0
16

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज मिर्जापुर में बाणसागर नहर परियोजना राष्ट्र को समर्पित की। यह परियोजना क्षेत्र में सिंचाई को काफी बढ़ावा देगी तथा उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर एवं इलाहाबाद जिलों किसानों के लिए काफी लाभदायक साबित होगी।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मिर्जापुर चिकित्सा महाविद्यालय का शिलान्यास किया। उन्होंने राज्य में 100 जन औषधि केंद्रों का भी उद्घाटन किया। उन्होंने चुनार के बालुघाट में गंगा नदी पर बने एक पुल को भी राष्ट्र को समर्पित किया जो मिर्जापुर एवं वाराणसी के बीच संपर्क सुगम बनाएगा।
इस अवसर पर बोलते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि मिर्जापुर क्षेत्र में असीमित क्षमता छुपी हुई है। उन्होंने सौर संयंत्र के उद्घाटन के लिए फ्रांस के राष्ट्रपति मैरॉन के साथ मिर्जापुर की अपनी पिछली यात्रा का समरण किया।
प्रधानमंत्री ने विभिन्न विकास परियोजनाओं एवं कार्यों का उल्लेख किया जिसका उन्होंने पिछले दो दिनों के दौरान या तो उद्घाटन किया है या शिलान्यास किया है।
उन्होंने कहा कि बाणसागर परियोजना की अवधारणा लगभग चार दशक पहले बनाई गई थी और 1978 में इसका शिलान्यास किया गया था लेकिन इस परियोजना में बेवजह काफी देरी होती गई। उन्होंने कहा कि 2014 के बाद, इस परियोजना को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना का एक हिस्सा बना दिया गया और इसे पूर्ण करने के सभी प्रयास किए गए।
केंद्र सरकार द्वारा किसानों के कल्याण के लिए उठाए गए कदमों के बारे में चर्चा करते हुए, प्रधानमंत्री ने खरीफ फसलों के लिए एमएसपी में हाल में की गई बढोतरी का भी उल्लेख किया।
उन्होंने जन औषधि केंद्रों सहित, निर्धनों को किफायती स्वास्थ्य देखभाल उपलब्ध कराने के लिए उठाए गए कदमों की चर्चा की। उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन रोगों को नियंत्रित करने में भी प्रभावी साबित हो रहा है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य बीमा योजना-आयुष्मान भारत शीध्र ही कार्यान्वित की जाएगी। उन्होंने केंद्र सरकार की अन्य सामाजिक कल्याण योजनाओं के बारे में भी उल्लेख किया।पीएम ने कहा, ‘हम अमीर और गरीब के बीच की खाई को कम करना चाहते हैं। इसका परिणाम जल्द ही आपको दिखने लगेगा। गरीब अब आपकी आंखों में आंखे डालकर विश्वास से देख सकता है। आज यहां 100 जन औषधि केंद्रों का भी लोकार्पण किया गया है। ये जन औषधि केंद्र गरीब, निम्न मध्यम वर्ग का बहुत-बड़ा सहारा बन रहे हैं। इन केंद्रों में 700 से अधिक दवाइयां और डेढ़ सौ से अधिक सर्जरी के सामान सस्ते दाम पर उपलब्ध हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here